राज़ खोल देते हैं नाज़ुक से इशारे अक्सर,
कितनी खामोश मोहब्बत की जुबां होती है.
‐ 3 years ago by hotsonu999

— 72 Likes —
SMS Length : 204