शाख से फूल तोड़कर मैंने ,सीखा
अच्छा होना गुनाह है ,इस जहाँ में,
‐ 3 years ago by hotsonu999

— 115 Likes —
SMS Length : 161