जिस नजाकत से ये लहरे मेरे पैरों को छूती है;
यकीन नही होता इन्होने कभी कश्तियाँ डूबाई होगी...!!
‐ 4 years ago by sonu.patel71

— 165 Likes —
SMS Length : 238